Home News Tum Pe Hum Toh Song Lyrics In Hindi

Tum Pe Hum Toh Song Lyrics In Hindi

0
11

Tum Pe Hum Toh Song Lyrics

Tum pe hum toh mare jaa rahe hain
Mitne ki zid kiye jaa rahe hain
Tum pe hum toh mare jaa rahe hain
Mitne ki zid kiye jaa rahe hain

Tum pe hum to mare jaa rahe hain
Mitne ki zid kiye jaa rahe hain
Soch ke tumko lagta hai dil ko
Apni nazar mein lute jaa rahe hain

Tum pe hum toh mare jaa rahe hain
Mitne ki zid kiye jaa rahe hain

Khwab to bas zariya hai tumko paane ka
Teri saason mein bas ke dil tak aane ka
Khwab to bas zariya hai tumko paane ka
Teri saason mein bas ke dil tak aane ka

Kaisa safar hai kaisi dagar hai
Rahaton se door huye jaa rahe hain Tum pe hum toh mare jaa rahe hain
Mitne ki zid kiye jaa rahe hain

Chhu bhi lo nazar se mujhe
Kyun sharmate ho
Hai ishq tumhein bhi bepanah
Kyun chhipate ho

Chhu bhi lo nazar se mujhe
Kyun sharmate ho
Hai ishq tumhein bhi bepanah
Kyun chhipate ho

Bin tere aaj kal lagta hai har pal
Betahasha hum to bikhre jaa rahe hain

Tum pe hum toh mare jaa rahe hain
Mitne ki zid kiye jaa rahe hain
Tum pe hum toh mare jaa rahe hain
Mitne ki zid kiye jaa rahe hain

Soch ke tumko lagta hai dil ko
Apni nazar mein lute jaa rahe hain

Tum pe hum toh mare jaa rahe hain
Mitne ki zid kiye jaa rahe hain
Mitne ki zid kiye jaa rahe hain
Mitne ki zid kiye jaa rahe hain
Mitne ki zid kiye jaa rahe hain.

Tum Pe Hum Toh Song Lyrics in Hindi Font

तम पे हम तो मारे जा रहे हैं
मितने की जिद किये जा रहे हैं
तम पे हम तो मारे जा रहे हैं
मितने की जिद किये जा रहे हैं

तम पे हमरे से जारे वही है
मितने की जिद किये जा रहे हैं
सोचे के तुम लगत है दिल को
आपन नज़र मइँ लुट जात रहिन

तम पे हम तो मारे जा रहे हैं
मितने की जिद किये जा रहे हैं

ख्वाब से बेस झरिया है तूम पान की
तेरी सासों में बस दिल तेरी जाने का
ख्वाब से बेस झरिया है तूम पान की
तेरी सासों में बस दिल तेरी जाने का

कैस सफार है कैसई डगर है
रहतें से दरवाजा हुआ ये भी है तुम कुछ भी तो है मेरा दिल रहा है
मितने की जिद किये जा रहे हैं

छो बी लो नज़ार से मुजे
क्यूं शर्मते हो
हइ इश्क तुम्हीन बन बेपनाह
क्यूं छीपते हो

छो बी लो नज़ार से मुजे
क्यूं शर्मते हो
हइ इश्क तुम्हीन बन बेपनाह
क्यूं छीपते हो

बिन तेरे आज कल लगत है हर पल
बइठास हम बिखरे जा रहल हे

तम पे हम तो मारे जा रहे हैं
मितने की जिद किये जा रहे हैं
तम पे हम तो मारे जा रहे हैं
मितने की जिद किये जा रहे हैं

सोचे के तुम लगत है दिल को
आपन नज़र मइँ लुट जात रहिन

तम पे हम तो मारे जा रहे हैं
मितने की जिद किये जा रहे हैं
मितने की जिद किये जा रहे हैं
मितने की जिद किये जा रहे हैं
मितने की जिद किये जा रहे हैं।